धर्मेन्द्र कसौधन(ब्यूरो):उत्तर प्रदेश की 58, 189 ग्राम पंचायतों में आम आदमी के दरवाजे बैंकिंग सेवा पहुंचाने की तैयारी है। उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन 3534 ग्राम पंचायतों के लिए बीसी सखियों का चयन करने जा रहा है। इसमें स्वयं सहायता समूह की सदस्य महिलाओं को चयन में वरीयता मिलेगी। इच्छुक महिलाएं 10 जून तक आवेदन कर सकती हैं।

रिजर्व बैंक आफ इंडिया की ओर से संचालित बैंकों की गांवों में प्रतिनिधि होंगी बीसी सखी । वे माइक्रो एटीएम के माध्यम से बैंकिंग सेवाएं आम लोगों तक पहुंचाएंगी। सखियों के माध्यम से गांवों में ही वित्तीय लेन-देन में आसानी होने के साथ ही काम धंधे में भी तेजी आएगी। इसके अलावा समय व धन की भी बचत होगी।

प्रदेश सरकार आजीविका मिशन के तहत हर गांव में एक बीसी सखी की नियुक्ति कर रही है, इन दिनों 3534 गांवों में बीसी सखी के पद रिक्त हैं, अब उन्हें भरने की तैयारी है। मिशन निदेशक भानुचंद्र गोस्वामी ने बताया कि इच्छुक महिलाओं को गूगल प्ले स्टोर से यूपी बीसी सखी मोबाइल एप डाउनलोड करना होगा। आवेदन करते समय महिलाएं अपना मोबाइल नंबर ही भरें ताकि उनका ओटीपी के माध्यम से सत्यापन हो सके। गलत तथ्य व भ्रामक उत्तर देने पर आवेदन स्वीकार नहीं होगा। एक से अधिक बार आवेदन न करें अन्यथा सभी आवेदन स्वीकार होंगे। अंतिम तारीख 10 जून तय की गई है। रिक्त ग्राम पंचायतों की सूची वेब लिंक भी जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि 18 से 50 वर्ष की आयु तक महिलाएं आवेदन कर सकती हैं, यदि वे स्वयं सहायता समूह की सदस्य होंगी तो उन्हें वरीयता मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.