आज दिनांक 30 मई बहुआयामी शिक्षा तकनीकी अनुसंधान ऑर्गेनाइजेशन व एरा विश्वविद्यालय के बायोतकनीकी विभाग के सहायक शोधक श्रीमान के एम आमिश जी के द्वारा अपने जन्म दिवस के शुभ अवसर पर अपने सहायक लैब टेक्नीशियन को संस्था के माध्यम से विशेष ज्ञान अर्जित हेतु प्रयोगशाला में प्रयोग किए जाने वाले उपकरण व उनका प्रयोग तथा विभिन्न प्रकार की तकनीकी से संबंधित व आयुर्वेदिक यूनानी नेचुरल प्रोडक्ट दवाओं से संबंधित लैब मेंटेनेंस इंस्ट्रुमेंटल पुस्तक देखकर सम्मानित किया है प्राप्त जानकारी के अनुसार इस पुस्तक में समस्त प्रकार की प्रयोगशाला से संबंधित टेक्निक्स का वर्णन किया गया है जिसमें स्पेक्ट्रोस्कोपिक टेक्निक क्रोमेटोग्राफिक टेक्निक माइक्रोस्कोपिक टेक्निक स्कैटरिंग टेक्निक के अतिरिक्त विभिन्न शॉर्टकट टेक्निक का प्रयोग किया गया है जिनको भली-भांति समझ कर शोध से संबंधित कार्यों में और अधिक तेजी लाई जा सकती है जोकि प्रयोगात्मक स्तर का पहल है तथा बहुआयामी संस्था का शिक्षा के स्तर को पूर्णतया प्रयोगात्मक बनाने का एम विशन व मिशन भी है अंत में राष्ट्रीय अध्यक्ष का कहना है यदि इसी प्रकार समस्त भारत के प्राथमिक विद्यालय से लगाकर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय होते हुए महाविद्यालय तक प्रयोगशाला से संबंधित समस्त प्रकार के उपकरण व पुस्तकों को मुहैया कराई जाए तो निश्चित तौर पर हम भारत के स्वदेशी सपने को साकार कर दिखाएंगे साथ में सरकार की आलोचना करते हुए यह भी कहा कि वर्तमान उत्तर प्रदेश के शिक्षा के स्तर में प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालयों में प्रयोगशालाओं के नाम पर खिलवाड़ किया जा रहा है ना ही किसी प्रकार का रसायन मौजूद है और ना ही उपकरण सारी प्रयोगशाला मकड़जाल से घिरी हुई हैं ऐसे में भारत स्वदेशी प्रयोग करने में नासमझ होता जा रहा है जो भविष्य में एक चिंता का विषय बनता जा रहा है ऐसे में सरकार को चाहिए कि शिक्षा के स्तर को बढ़ावा देने के लिए प्रयोग से संबंधित समस्त प्रकार के उपकरण व पुस्तकें सरकारी बजट व खर्च पर समस्त विद्यालयों तक मुहैया कराए ताकि शोध के स्तर में हम विश्वविख्यात एक मिसाल कायम कर सकें
साथ ही साथ संस्था भरोसा दिलाती है यदि भविष्य में वह इस लायक हो पाती है तो वह समस्त विद्यालयों को इस तरीके की पुस्तक एवं उपकरण मुहैया कराने का काम करेगी।

By admin_kamish

बहुआयामी राजनीतिक पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष

Leave a Reply

Your email address will not be published.